Stop Loss क्या है और इसको सही तरीके से कैसे लगाए?

Stop Loss क्या है और इसको सही तरीके से कैसे लगाए?

आज हम यहां शेयर मार्केट में चाहे वो Intraday Trading हो,Swing Trading या फिर Futures and Options Trading हो उन सभी में Stop Loss कैसे इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें लगाए और कोन से prise पर लगाए जिससे उसकी accuracy बढ़ जाए।

Note: अगर आप यह सोच रहे है की यह पढ़ने के बाद कभी भी मेरा Stop Loss hit नही होगा तो यह गलत है, क्युकी Stop Loss भी एक मार्केट का हिस्सा है जो कभी न कभी तो hit होगा।

हम शेयर मार्केट में बस इतना ही कर सकते है की हमारे Stop Loss को ऐसी जगह पर लगाए जिससे वह अच्छी Accuracy के साथ बाजार में आगे आने वाले समय में बना रहे।

Stop Loss क्या होता है?

जैसे हम किसी शेयर को खरीदते है उसको Buy prise और बेचते है उसको Sell prise कहते है, ऐसे ही अगर हमारे अनुमान से नीचे/ऊपर अगर शेयर का भाव चला जाए तो हम हमारे Risk Reword Ratio के अनुसार किसी Prise पर अपना Loss को सीमित करते है उसी Prise को Stop Loss कहते है।

आसान भाषा में कहे तो शेयर मार्केट में Trade के दौरान अपने LOSS को सीमित करने वाली prise को Stop Loss कहते है।

Stop Loss से शेयर या F&O trading में हम होने वाले भरी नुकसान से बच सकते है और अपना पैसे को बचा सकते है।

कई ट्रेडर बिना Analysis के कोई भी Prise को Stop Loss prise बना लेते है जोकि गलत है, और वह काफी ज्यादा Loss करते है।

आज ये 6 शेयर आपको कर सकते हैं मालामाल, विशेषज्ञों ने कहा लगा लीजिए इन पर दांव

आज के इंट्राडे में शेयर बाजार के विशेषज्ञ आईआईएफएल सिक्योरिटीज के अनुज गुप्ता, आनंद राठी के मेहुल कोठारी और प्रभुदास लीलाधर की वैशाली पारेख ने आज खरीदने के लिए 6 शेयरों की सिफारिश की है।

आज ये 6 शेयर आपको कर सकते हैं मालामाल, विशेषज्ञों ने कहा लगा लीजिए इन पर दांव

Day trading guide for Thursday: भारतीय शेयर बाजार ने मंगलवार को शानदार वापसी की और दिन को भारी बढ़त के साथ बंद हुआ। निफ्टी 50 इंडेक्स 446 अंक बढ़कर 17,759 पर, बीएसई सेंसेक्स 1564 अंक बढ़कर 59,537 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी बैंक इंडेक्स 1260 अंक बढ़कर 39,536 के स्तर पर बंद हुआ। आज के इंट्राडे में शेयर बाजार के विशेषज्ञ आईआईएफएल सिक्योरिटीज के अनुज गुप्ता, आनंद राठी के मेहुल कोठारी और प्रभुदास लीलाधर की वैशाली पारेख ने आज खरीदने के लिए 6 शेयरों की सिफारिश की है।

शेयर बाजार के लिए डे ट्रेडिंग गाइड

निफ्टी 50 इंडेक्स पर एचडीएफसी सिक्योरिटीज के तकनीकी अनुसंधान विश्लेषक, नागराज शेट्टी ने कहा, "निफ्टी ने हाल के डाउन ट्रेंड को तेजी से उलट दिया है। अब 16,900 के रेजिस्टेंट के साथ धमाकेदार अपसाइड ब्रेकआउट देखने को मिल सकता है। इस सप्ताह के अंत तक या अगले सप्ताह तक निफ्टी 17,900 के स्तर से ऊपर जाने के बाद अगले कुछ इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें हफ्तों में 18,300 से 18,400 के अगले ऊपर के लक्ष्य की ओर खींच सकता है। एनएसई निफ्टी के लिए तत्काल समर्थन 17,600 के स्तर पर रखा गया है।"

डे ट्रेडिंग स्टॉक

  • अशोक लीलैंड: सीएमपी पर खरीदें, लक्ष्य ₹165, स्टॉप लॉस ₹143
  • एक्सिस बैंक: सीएमपी पर खरीदें, लक्ष्य ₹780, स्टॉप लॉस ₹710
  • आईआरसीटीसी: ₹710 पर खरीदें, ₹730 का लक्ष्य रखें, स्टॉप लॉस ₹700
  • रेमंड: ₹961 पर खरीदें, ₹985 का लक्ष्य, स्टॉप लॉस ₹950
  • टीटीके प्रेस्टीज: ₹961 पर खरीदें, ₹1200 का लक्ष्य, स्टॉप लॉस ₹890।

डिस्क्लेमर: ऊपर दिए गए विचार और सिफारिशें व्यक्तिगत विश्लेषकों या ब्रोकिंग कंपनियों के हैं, न कि लाइव हिन्दुस्तान के।

Stocks for intraday trading: ये 6 शेयर आज दे सकते हैं अच्छा मुनाफा

आज इन शेयरों में निवेश करने पर मुनाफा मिलने की उम्मीद

  • Date : 29/08/2022
  • Read: 3 mins Rating : -->

अमेरिकी शेयर बाजारों में आई गिरावट को देखते हुए भारत के शेयरबाजारों में भी असमंजस का माहौल दिखाई दे रहा है। ऐसे में विश्लेषकों की सलाह पर ध्यान देना चाहिए।

Stocks for intraday trading

Stocks for investing in Intra-day trading: पिछले 26 अगस्त को अमेरिकी शेयर बाजारों में काफी गिरावट आई जिसका असर भारत के निवेशकों में भी दिखाई दे रहा है। हालांकि, भारत के शेयर बाजारों में कोई गिरावट नहीं आई और निफ्टी-फिफ्टी सूचकांक 36 अंक ऊपर जाकर 17,558 पर बंद हुआ। इसी तरह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज भी सेंसेक्स 58,833 पर बंद हुआ। निफ्टी बैंक इंडेक्स 36 अंक बढ़त के साथ 38,987 पर बंद हुआ था। ऐसे में एवीपी के तकनीकी अनुसंधान विशेषज्ञ मेहुल कोठारी; आनंद राठी टेक्निकल रिसर्च की उपाध्यक्ष वैशाली पारेख; प्रभुदास लीलाधर; और राजेश भोसले जैसे शेयर बाजार के विश्लेषक आज इंट्रा डे के कारोबार के लिए इन 6 शेयरों को खरीदने की सलाह दे रहे हैं।

इन शेयरों में मेहुल कोठारी ने रेमंड के शेयरों को 995 रुपए का लक्ष्य रख कर 963 रुपए पर, और जिंदल स्टील के शेयरों को 440 रुपए का लक्ष्य रख कर 421 रुपए पर खरीदने की सलाह दी इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें है। साथ ही, इन दोनों शेयरों के लिए क्रमशः 945 रुपए और 408 रुपए का स्टॉप लॉस भी निर्धारित किया गया है। एजिस लॉजिस्टिक्स के शेयर 300 रुपए का लक्ष्य रख कर 264 रुपए पर, और महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज के शेयर 225 रुपए का लक्ष्य रख कर 206 रुपए पर खरीदे जा सकते हैं। राजेश भोसले के अनुसार टाइटन कंपनी के शेयर को 2533 पर खरीदकर 2620 का लक्ष्य रखा जा सकता है, जबकि इसका स्टॉप लॉस 2480 रुपए रखा जाना चाहिए। एनटीपीसी के शेयर 163.40 रुपए पर खरीदकर 171 रुपए का लक्ष्य रख सकते हैं, इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें जिसका स्टॉप लॉस 158.80 रुपए होना चाहिए।

इंट्राडे स्टॉक क्या होता है और इससे कैसे लाभ हो सकता है?

एक ही कारोबारी दिन के भीतर शेयर को खरीदने और बेचने को इंट्रा डे ट्रेडिंग कहा जाता है। इन शेयरों को निवेश करने के उद्देश्य से न खरीदकर स्टॉक इंडेक्स के उतार–चढ़ाव का फायदा उठाकर लाभ कमाने के उद्देश्य से खरीदा जाता है। शेयरों की खरीद-बिक्री से लाभ कमाने के लिए शेयरों की कीमतों में उतार–चढ़ाव पर लगातार निगाह रखी जाती है। हालांकि इंट्रा डे के लिए शेयरों को चुनना अक्सर चुनौतीपूर्ण होता है।

अगर बाजार आपके अनुमान के अनुसार काम करता है तो आप अच्छा लाभ पा सकते हैं। ज्यादा तरलता वाले स्टॉक चुने। जिस शेयर में विक्रेता और खरीदार ज्यादा होते हैं, उसे हाई लिक्वीडीटी शेयर कहते हैं। तो अगर आप एक दिन में लाभ कमाना चाहते हैं तो इन बातों पर खास ध्यान दें। दो या तीन तरल या लिक्वीडिटी वाले शेयर चुनना फायदेमंद हो सकता है। प्रवेश और लक्ष्य मूल्य निर्धारित कर लें। हानि का प्रभाव काम करने के लिए स्टॉप-लॉस का उपयोग करें। लक्ष्य तक पहुंचने पर अपना लाभ समेट लें। एक निवेशक बनने के बजाय व्यापारी बनें। अपने इच्छित शेयरों के बारे में अच्छी तरह से पता लगाएं और सबसे ज़रूरी बात किसी भी परिस्थिति में बाजार के खिलाफ न जाएं।

ये सारे शेयर्स Buy कर लेना

Stocks for investing in Intra-day trading: पिछले 26 अगस्त को अमेरिकी शेयर बाजारों में काफी गिरावट आई जिसका असर भारत के निवेशकों में भी दिखाई दे रहा है। इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें हालांकि, भारत के शेयर बाजारों में कोई गिरावट नहीं आई और निफ्टी-फिफ्टी सूचकांक 36 अंक ऊपर जाकर 17,558 पर बंद हुआ। इसी तरह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज भी सेंसेक्स 58,833 पर बंद हुआ। निफ्टी बैंक इंडेक्स 36 अंक बढ़त के साथ 38,987 पर बंद हुआ था। ऐसे में एवीपी के तकनीकी अनुसंधान विशेषज्ञ मेहुल कोठारी; आनंद राठी टेक्निकल रिसर्च की उपाध्यक्ष वैशाली पारेख; प्रभुदास लीलाधर; और राजेश भोसले जैसे शेयर बाजार के विश्लेषक आज इंट्रा डे के कारोबार के लिए इन 6 शेयरों को खरीदने की सलाह दे रहे हैं।

इन शेयरों में मेहुल कोठारी ने रेमंड के शेयरों को 995 रुपए का लक्ष्य रख कर 963 रुपए पर, और जिंदल स्टील के शेयरों को 440 रुपए का लक्ष्य रख कर 421 रुपए पर खरीदने की सलाह दी है। साथ ही, इन दोनों शेयरों के लिए क्रमशः 945 रुपए और 408 रुपए का स्टॉप लॉस भी निर्धारित किया गया है। एजिस लॉजिस्टिक्स के शेयर 300 रुपए का लक्ष्य रख कर 264 रुपए पर, और महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज के शेयर 225 रुपए का लक्ष्य रख कर 206 रुपए पर खरीदे जा सकते हैं। राजेश भोसले के अनुसार टाइटन कंपनी के शेयर को 2533 पर खरीदकर 2620 का लक्ष्य रखा जा सकता है, जबकि इसका स्टॉप लॉस 2480 रुपए रखा जाना चाहिए। एनटीपीसी के शेयर 163.40 रुपए पर खरीदकर 171 रुपए का लक्ष्य रख सकते हैं, जिसका स्टॉप लॉस 158.80 रुपए होना चाहिए।

इंट्राडे स्टॉक क्या होता है और इससे कैसे लाभ हो सकता है?

एक ही कारोबारी दिन के भीतर शेयर को खरीदने और बेचने को इंट्रा डे ट्रेडिंग कहा जाता है। इन शेयरों को निवेश करने के उद्देश्य से न खरीदकर स्टॉक इंडेक्स के उतार–चढ़ाव का फायदा उठाकर लाभ कमाने के उद्देश्य से खरीदा जाता है। शेयरों की खरीद-बिक्री से लाभ कमाने इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें के लिए शेयरों की कीमतों में उतार–चढ़ाव पर लगातार निगाह रखी जाती है। हालांकि इंट्रा डे के लिए शेयरों को चुनना अक्सर चुनौतीपूर्ण होता है।

अगर इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें बाजार आपके अनुमान के अनुसार काम करता है तो आप अच्छा लाभ पा सकते हैं। ज्यादा तरलता वाले स्टॉक चुने। जिस शेयर में विक्रेता और खरीदार ज्यादा होते हैं, उसे हाई लिक्वीडीटी शेयर कहते हैं। तो अगर आप एक दिन में लाभ कमाना चाहते हैं तो इन बातों पर खास ध्यान दें। दो या तीन तरल या लिक्वीडिटी वाले शेयर चुनना फायदेमंद हो सकता है। प्रवेश और लक्ष्य मूल्य निर्धारित कर लें। हानि का प्रभाव काम करने के लिए स्टॉप-लॉस का उपयोग करें। लक्ष्य तक पहुंचने पर अपना लाभ समेट लें। एक निवेशक बनने के बजाय व्यापारी बनें। अपने इच्छित शेयरों के बारे में अच्छी तरह से पता लगाएं और सबसे ज़रूरी बात किसी भी परिस्थिति में बाजार के खिलाफ न जाएं।

इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें

ट्रेडर हमेशा मुनाफे की ओर देखता है लेकिन उसके मन में नुकसान का भय हमेशा सताता रहता है। ज़ेरोधा जैसे स्टॉकब्रोकर आपको स्टॉप लॉस जैसे विकल्प प्रदान करता है जिससे आप अपने नुकसान को सीमित करते हुए चल सकते है। तो आज इस लेख में हम जानेंगे how to set stop loss in Zerodha in hindi.

ज़ेरोधा में सेल स्टॉप लॉस कैसे लगाएं?

जब आप कोई शेयर या स्टॉक को खरीदते है इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें तो उस स्थिति में आप सेल स्टॉप लॉस का उपयोग करते है, जिसे सेट करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप का अनुसरण करें:

  • अपने अकाउंट पर अपनी डिटेल्स के साथ लॉगिन करें
  • वॉचलिस्ट से अपने पसंद का स्टॉक चुने,जिसे आप खरीदना चाहते हैं।
  • Buy ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • खरीदने वाली स्क्रीन पर जाकर मात्रा और कीमत तय करें।
  • प्रोडक्ट टाइप चुने (इंट्राडे) और SL ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • सेल स्टॉप लॉस लगाने के लिए ट्रिगर प्राइस और स्टॉप लॉस वैल्यू डाले ।
  • यहाँ पर ट्रिगर प्राइस की वैल्यू स्टॉप लॉस से ज़्यादा रखी जाती है।
  • वैल्यू डालने के बाद आप लेफ्ट स्वाइप कर अपना आर्डर कन्फर्म करें ।

ज़ेरोधा में बाय स्टॉप लॉस कैसे लगाएं?

शार्ट-सेलिंग करते समय ट्रेडर को बाय स्टॉप-लॉस (Buy Stop Loss) ऑर्डर सेट करना होता है। यहां बाय स्टॉप लॉस एंट्री प्राइस या सेल प्राइस से ज़्यादा होता है ।

आइये जानते है की ज़ेरोधा की एप में आप सेल स्टॉप लोस्स आर्डर कैसे लगा सकते है:

  • अपनी ज़ेरोधा एप्लीकशन पर क्लिक करें।
  • उस स्टॉक को इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें चुने जिसे आप शार्ट सेल करना चाहते।
  • सेल विंडो (स्क्रीन) पर जाकर मात्रा, मूल्य, और प्रोडक्ट टाइप (intraday) चुने ।
  • सेल ऑप्शन पर क्लिक करें और ट्रिगर वैल्यू एंटर करें, सेल स्टॉप लॉस के विपरीत यहाँ पर आपको ट्रिगर प्राइस स्टॉप लॉस वैल्यू से कम डालनी होती है ।
  • साड़ी डिटेल डालने के बाद सेल आर्डर कन्फर्म करने के लिए स्क्रीन पर दिए ऑप्शन को लेफ्ट स्वाइप करें।

SL-M ऑर्डर के तहत ऑर्डर को ट्रिगर प्राइस पर एक्सक्यूट किया जाता है और ये मार्किट वैल्यू पर ही एक्सक्यूट हो जाता है।

उम्मीद है कि आप ज़ेरोधा में स्टॉप लॉस कैसे लगाए की प्रक्रिया को समझ पाए होंगे । स्टॉक मार्केट से जुड़े अन्य प्रश्नो के लिए नीचे दिए गए फॉर्म में अपना विवरण भरें।

Stop loss, Target & Trailing S.L. क्या है ?

Stop loss image, Target and Trailing S.L.text image

stop loss का उपयोग अधिकतर scalping, Intraday या swing trading में किया जाता है जिससे बाजार के बड़े उतार-चढ़ाव में कोई बड़ा नुकसान होने से बचा जा सके, जबकी Investment अगर long time के लिए किया जाए तो stop loss का कुछ खास महत्व नहीं होता है।

Example :

अगर हम Intraday में trading करते समय किसी xyz Company का share 470/- में खरीद लेते हैं तब हमें मार्केट के उतार-चढ़ाव से बहुत बड़ा नुकसान ना हो, इसके लिए हम stop loss लगाते हैं।

अब मानलो कि इसमें हमने 460/- का stop loss लगा लिया और market में किसी News या किसी भी वजह से उसका price गिरकर 450/ हो जाता है तब हमारा stop lost hit हो जाएगा और हमें केवल 10/- का ही loss होगा। और हमारा Share 460/- में बिक जाएगा।

अगर हम stop loss नहीं लगाते तो हमें 20/- का loss हो जाता, तो इसी loss से बचने के लिए हम stop loss लगाते हैं।

  • Option Buyers Maximum Profit and Loss
  • Option Sellers Maximum profits and loss
  • Option trading में charges कितना लगता है ?
  • Order Validity (Day & IOC) क्या होता है ?

Target :

जिस प्रकार loss को कम करने के लिए इंट्राडे में स्टॉप लॉस कैसे लगायें stop loss लगाते हैं उसी प्रकार profit को भी fix करने के लिए Target लगाया जाता है।

Example :

मानलो कि हम XYZ company का Share 100/- में Buy किए अब अगर हम target मानलो 110/- का लगाते हैं, और market उतार-चढाव की वजह से 112/- तक गया तो हमारा profit 110/- पर ही book हो जाएगा और बाद में share फिर से गिरकर 100/- हो जाता है तब हमें 10/- का profit हो चुका रहेगा क्योंकी हमारा share 110/- में पहले ही बिक गया है।

अक्सर Intraday या scalping में ऐसा होता है कि market उपर जाकर वापस गिर जाता है। तो ऐसे में profit को fix करने के लिए target का use करते हैं।

Trailing stop loss :

अभी आपने पढ़ा Target के बारे में जिसमें हमारा profit fix हो जाता है लेकिन इसमें profit Unlimited हो सकता है और वो भी loss को Fix करते हुए। यानी की loss fix और profit Unlimited, तो चलिए समझते हैं की इसका उपयोग कैसे करना है ?

Example :

माना कि हम किसी XYZ company का Share 100/- में Buy किए हैं और Stop loss 90/- का लगाए हैं। और उस share का price बढ़कर 110/- हो जाता है तब हम अपने पहले वाले stop loss को trail करके यानी की बढ़ा के 100/- कर लेंगे ।

अब यदि market फिर से गिरकर 100 या उससे नीचेजाएगा तो हमें कोई loss नहीं होगा लेकिन अगर market बिना गिरे लगातार बढ़ता जाता है तब हम stop loss को बार-बार trail करके आगे बढ़ाते रहेंगे ऐसे में हमारा loss नहीं होगा केवल profit ही होगा।

और market जितना बढ़ेगा उतना profit होता रहेगा और अंत मे हमारा stop loss हिट होगा, लेकिन फिर भी हम profit में ही रहेंगे। तो इस तरह ले हम trailing S.L. का Use कर सकते हैं।

अब आप भी अपना डीमैट अकाउंट खोलें सिर्फ 5 मिनट में और आज से ही निवेश (Investment) शुरू करें 👇

"दोस्तों आपको यह जानकारी कैसा लगा नीचे Comment करके जरूर बताएँ . धन्यवाद !!"

रेटिंग: 4.22
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 831