RBI ने दी थी 9.99% अधिग्रहण की अनुमति

₹400 का शेयर ₹21 पर बिक रहा, 94% सस्ता हुआ भाव, अब जमकर हो रही खरीदारी, खत्म हुए बुरे डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? दिन!

हिन्दुस्तान लोगो

हिन्दुस्तान 3 दिन पहले लाइव हिन्दुस्तान

Yes Bank Share Price: एक समय था जब दिग्गज प्राइवेट बैंकों में यस बैंक (Yes Bank Share) का नाम लिया जाता था। उस वक्त दलाल स्ट्रीट पर यस बैंक के शेयरों की जबरदस्त डिमांड थी। लेकिन वक्त बदला और बैंक के बुरे दिन शुरू हो गए। दरअसल, कुछ सालों पहले डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? आरबीआई (RBI) ने बैलेंश शीट में गड़बड़ी और एनपीए की वजह से यस बैंक पर कार्रवाई शुरू की और फिर इसके चेयरमैन राणा कपूर पद से हटा दिया गया। लगातार विवादों के बीच दुनियाभर की रेटिंग एजेंसी यस बैंक को लेकर निगेटिव राय देने लगी, इसका असर बैंक के डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? सेहत और शेयर दोनों पर हुआ और तब से शेयर गिरते चले गए। गिरावट का सिलसिला इस हद तक रहा कि कभी 400 रुपये (अगस्‍त 2018 की कीमत) के भाव में बिक रहे शेयर 12.11 रुपये पर पहुंच गए थे। हालांकि, अब जब एक फिर बैंक के कारोबार में सुधार हुआ है तो शेयरों पर भी इसका असर पड़ा है।

Yes bank के शेयर से हो सकता हैं आज इतना मुनाफ़ा. Stoploss और डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? Target हुआ नया जारी

Yes bank के शेयर से हो सकता हैं आज इतना मुनाफ़ा. Stoploss और Target हुआ नया जारी

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के द्वारा लगाए गए यस बैंक पर प्रतिबंध के बाद से यस बैंक का शेयर लगातार तेजी से गिरते हुए पेनी स्टॉक के कैटेगरी में आ गया था. कई डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? निवेशकों ने इसके बावजूद भी यस बैंक को और खरीदा और पुराने निवेशकों ने इसे होल्ड कर रखा था. विशेषज्ञों के अनुसार यह शेयर पेनी स्टॉक से दोबारा ऊपर जाने वाले कैटेगरी के लिए तैयार है.

RelatedPosts

दिल्ली से 2 घंटे में अब जयपुर, चंडीगढ़, देहरादून, हरिद्वार पहुँचिये.

यस बैंक ने 3 दिन में दीया 30% का रिटर्न.

बैंक ने पिछले लगातार तीन दिनों के ट्रेडिंग में 30% तक का रिटर्न अपने निवेशकों को लौट आया है और तेजी से ब्रोकरेज कंपनी के द्वारा यस बैंक के टारगेट और स्टॉपलॉस को अपडेट किया गया है.

एसे करें विदेशी म्यूचुअल फ़ंड में डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? निवेश

अब अगर आप म्यूचुअल फ़ंड में पैसा निवेश करना चाहते हैं तो यह प्रक्रिया बेहद आसान है। इसे विदेशी शेयरों में निवेश करने वाली भारतीय म्यूचुअल फंड कंपनियां शुरू कर सकती हैं। अंतर यह है कि, इस तरह, मुद्रा का विदेशी मुद्रा में रूपांतरण या उससे जुड़े जोखिम कम डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? होते हैं। इन फंड्स को NV देखकर निवेश किया जा सकता है।

किसी भी सक्रिय फंड में फंड मैनेजर निवेशकों की मदद करता है। वित्तीय क्षेत्र में उत्पादों के अनुसार शामिल किया जाना चाहिए। ऐसे में निवेशकों को मिलने वाला रिटर्न फंड मैनेजर के फैसले पर निर्भर करता है। अब अगर पैसिव फ़ंड और इंडेक्स की बात करें तो वे S&P 500 या S&P 500 टॉप 50 या नैस्डैक 100 कंपनियों में निवेश कर रहे हैं। इसमें जो रिटर्न इंडेक्स देता है, वही रिटर्न निवेशक को मिलता है।

आइए जानते है LRS स्कीम के बारेमें

रेटिंग: 4.81
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 346